जबलपुर: अमूमन सड़कों पर अपराधियों का जुलूस निकालने वाली खाकी की एक ऐसी शर्मनाक तस्वीर सामने आई जिसने पूरे पुलिस विभाग को शर्मसार कर दिया है. जबलपुर में ग्वारीघाट थाना क्षेत्र के अंतर्गत पड़ने वाले चौधरी मोहल्ले में एक सब-इंस्पेक्टर और उसके साथी को जनता ने पकड़कर कर पुलिस के हवाले किया.

चौधरी मोहल्ले में एक महिला दो बेटियों के साथ रहती है. पूरा मामला उसके घर में चलने वाली अनैतिक गतिविधियों से जुड़ा हुआ है, जिसमें खुद एक पुलिस वाला शामिल था.

युवती को बंधक बनाया, नशा देकर 2 दिन तक गैंगरेप किया, तबीयत बिगड़ने पर घर के बाहर फेंका

घर में महिलाओं के साथ आपत्तिजनक स्थिति में मिला सब-इंस्पेक्टर
चौधरी मोहल्ले के लोगों को महिला के घर में देह व्यापार चलने का शक था. रोजाना होने वाले गलत कार्यों से यहां के रहवासी परेशान थे. आए दिन तरह-तरह के लोग महिला के घर पहुंचते और दारू पीकर हंगामा करते. रविवार रात चीजें बर्दाश्त से बाहर हो गईं तो मोहल्ले वालों ने घर में रेड मार दी.

अंदर से जो तस्वीर सामने आई उसने सभी को हैरान कर दिया. स्थानीय लोगों ने सब-इंस्पेक्टर और उसके साथी को घर में मौजूद महिलाओं के साथ आपत्तिजनक हालत में पकड़ा.

साइकिल से नहीं हो पाई विधानसभा की चढ़ाई, बीच रास्ते कार में सवार हुए पीसी शर्मा-जीतू पटवारी

लोगों ने घर में रेड मारी तो ठीक से पैंट पहने बिना भागा एसआई
लोगों ने एसआई और उसके साथी को घर के अंदर ही बंद करने की कोशिश. जब मामला तूल पकड़ा तो सब-इंस्पेक्टर और उसका साथी घर की छत से भागने लगे. एसआई तो अपना पैंट भी ठीक से पहन नहीं पाया था. लेकिन लोगों ने दोनों को पकड़ लिया. सूचना मिलने पर ग्वारीघाट थाना पुलिस मौके पर पहुंची और एसआई व उसके साथी को थाने ले गई.

मौके पर एक कार (MP 20 CB 4261) थी जिस पर पुलिस लिखा हुआ था. बैक सीट के ऊपर एक कैप और वर्दी रखी हुई थी. यह एसआई की ही बताई जा रही है, जिसका नाम गोविंद तिवारी है और वह पनागर थाने में पदस्थ है. उसके साथी का नाम जीतू शर्मा है.

MP: 10वीं/12वीं की परीक्षा में हुए हैं ये 5 बड़े बदलाव, एग्जाम देने वाले छात्र जरूर जानें

एसआई को 15 दिन पहले प्रमोशन मिला, हरकतों के लिए है बदनाम
खाकी वाले की संलिप्तता सामने आने के बाद स्थानीय पुलिस ने मामले को दबाने की कोशिश की. पहले तो पुलिस यह मानने को ही तैयार नहीं थी कि पकड़े गए दोनों व्यक्तियों में एक सब-इंस्पेक्टर है. लेकिन जब स्थानीय लोगों ने प्रूफ के तौर पर वीडियो होने की बात कही तो दबी जुबान में ग्वारीघाट थाने के एसआई एस गौर ने स्वीकार किया कि पकड़ा गया शख्स पुलिस वाला है.

उसे 15 दिन पहले ही प्रमोशन मिला था. वह  विभाग में शराब पीने की अपनी आदत और अय्याश मिजाजी के​ लिए बदनाम है. स्थानीय लोगों ने घर में रहने वाली महिलाओं को भी गिरफ्तार करने की मांग की है.

देखो लाइव टीवी





Source link

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *