नई दिल्ली: देश की आधी आबादी की भागीदारी सुनिश्चित हो और महिलाएं प्रोत्साहित हों, इसलिए वर्तमान में केंद्र तथा राज्य सरकारों द्वारा लगातार पहल की जा रही हैं. आत्मनिर्भरता, स्वास्थ्य, प्रशिक्षण से लेकर वित्तीय सहायता तक प्रदान करने का काम हो रहा है जिससे महिलाएं आत्मनिर्भर तथा विकास की प्रक्रिया में भागीदार बनकर नए भारत के निर्माण में सहभागी बन सकें. योगी सरकार महिलाओं की स्थिति सुधारने के लिए केंद्र सरकार के साथ योगी सरकार ने कई योजनाओं की शुरुआत की है.

आज पेश होगा योगी सरकार का महाबजट, कोरोना, स्टूडेंट और किसानों को लेकर हो सकता है बड़ा ऐलान

क्या है समर्थ योजना
समर्थ योजना मोदी सरकार की एक महत्वाकांक्षी योजना है, जिसके तहत जरूरतमंद लोगों को विभिन्न प्रकार के वस्त्र उत्पादन के गुर एवं उससे जुड़े कार्यों के प्रबन्धन के हुनर सिखाये जा रहे हैं, जिससे लोग वस्त्र उद्योग के कामों को दक्षता पूर्वक सीखकर इस इंडस्ट्री में जान फूंक सकें. इससे न केवल वैश्विक वस्त्र कारोबार में भारत की व्यावसायिक हिस्सेदारी बढ़ेगी, बल्कि इसका फायदा आम लोगों को भी मिलेगा. समर्थ योजना महिलाओं के लिए भी काफी बड़ी होगी इससे महिलाओं को भी रोजगार का अवसर मिलेगा और महिला सशक्तिकरण को भी काफी ज्यादा बढ़ावा मिल सकेगा.

18 राज्यों में इस योजना की शुरूआत
जैसा कि नाम से ही जिक्र हो रहा है समर्थ यानी “अपने काम को करने में पूरी तरह से योग्य” केंद्र सरकार ने हाल ही में 18 राज्यों में इस योजना की शुरूआत की है जिसके अंतर्गत 4 लाख से भी अधिक लोगों को हुनर सीखा कर उन्हें समर्थ बनाया जाएगा. इस योजना के अंतर्गत व्यक्ति को वस्त्र उद्योग के कामों में दक्षता प्रदान की जाएगी और उनकी क्षमता को बढ़ाकर उन्हें पूरी तरह से ट्रेंड वर्कर बनाया जाएगा जिससे रोजगार का अवसर पैदा होगा और बेरोजगारी भी दूर होगी.

समर्थ योजना में महिलाओं पर फोकस
वस्त्र क्षेत्र में काम करने वाली 75% महिलाएं हैं. इसी बात को ध्यान में रखते हुए इस योजना के अंतर्गत महिलाओं पर फोकस किया गया है और केंद्र सरकार की तरफ से यह स्पष्ट संदेश दिया गया है कि महिलाओं के लिए यह एक अच्छा मौका है. इस मौके का लाभ महिलाओं को उठाना चाहिए. इस योजना के जरिए देश के लोगों का कौशल विकास किया जाएगा. जिससे कि उन्हें नौकरियां मिलेंगी और वो अपना खुद का बिजनेस करने में सक्षम बनेंगे. समर्थ योजना 2021 के जरिए बेरोजगारी की दरों में कमी आएगी और भारत वैश्विक स्तर पर वस्त्र क्षेत्र में तरक्की कर पाएगा.

महिलाओं को आमदनी का जरिया मिलेगा
इस योजना से महिलाओं को आमदनी का जरिया भी मिलेगा. इससे महिला सशक्तिकरण होगा और उन्हें आगे बढ़ने का मौका मिलेगा. इस योजना के मुताबिक, वस्त्र कारोबार से जुड़े सभी कौशल को एक सुनिश्चित समय सीमा के भीतर सीखने के बाद सभी तैयार और प्रशिक्षित लोगों को नौकरी दी जायेगी. विभागीय केंद्रीय मंत्री द्वारा निर्धारित योजना के मुताबिक 75 प्रतिशत महिलाएं इस योजना से लाभ उठा सकेंगी. इसलिए उन्होंने महिलाओं को ज़्यादा से ज़्यादा भाग लेने के लिए प्रेरित भी किया है.

समर्थ योजना के अंतर्गत सिखाई जाने वाले कार्य
तैयार परिधान, भुने हुए कपड़े, धातु हस्तकला, हथकरघा, हस्तकला, कालीन आदि

समर्थ योजना के लिए आवेदन कैसे करें?
इस योजना के लिए ऑनलाइन या ऑफलाइन, दोनों तरह से आवेदन किया जा सकता है. आवेदन के लिए पूर जानकारी आधिकारिक वेबसाइट (https://samarth-textiles.gov.in/) से ली जा सकती है. यहां पर उपलब्ध नोटिफिकेशन लिंक से अन्य सूक्ष्म जानकारी भी ली जा सकती है.

उत्तर प्रदेश में मिशन शक्ति अभियान के तहत शहरी व ग्रामीण महिलाओं को सशक्त करने का काम किया जा रहा है. अभियान के जरिए महिलाओं के स्‍वावलंबन, सुरक्षा और सेहत का ख्याल रखते हुए कार्यक्रमों का आयोजन किया जा रहा है. शक्ति संवाद, हक की बात के जरिए एक ओर ग्रामीण व शहरी महिलाओं की समस्‍याओं का तेजी से समाधान किया जा रहा है.

आज महिलाएं कोरोना की नई योद्धा के रूप में अपना योगदान कर रही हैं. जहाँ एक तरफ महामारी से प्रवासी श्रमिक तथा स्थानीय क्षेत्रों के लोग बहुत व्यापक रूप से बेरोजगारी, गरीबी के शिकार हो रहे हैं, वहीं उत्तर प्रदेश राज्य की बात करें तो योगी सरकार ने इस गंभीर समस्या को अवसर के रूप में परिवर्तित करने का काम किया है.

आधिकारिक वेबसाइट

https://samarth-textiles.gov.in/

Yogi Budget 2021-22: फ्री कोरोना वैक्सीन, लैपटॉप और गंगा चबूतरा समेत इन 10 चीजों पर होगा फोकस

देखो लाइव टीवी





Source link

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *