जयपुर: जमवारामगढ़ विधानसभा क्षेत्र के थौलाई गांव में 46.619 हैक्टेयर चरागाह भूमि में औद्योगिक इकाई की स्थापना की मांग को लेकर ग्रामीणों द्वारा महासभा का आयोजन किया गया. रीको की मांग के समर्थन में आंधी कस्बे सहित आसपास के गांव में व्यापारियों व अन्य दुकानदारों ने अपने प्रतिष्ठान बंद रखें.

महासभा के दौरान 26 फरवरी को उपखंड कार्यालय का घेराव व भूख हड़ताल करने का ऐलान किया गया. इस दौरान संघर्ष समिति के अध्यक्ष व ग्राम पंचायत थौलाई सरपंच रामस्वरूप मीणा ने कहा कि अगर 25 फरवरी तक उपखंड अधिकारी कार्यालय द्वारा थोलाई में रीको स्थापित करवाने को लेकर सेट अपार्ट प्रस्ताव नहीं भेजवाया गया तो 26 फरवरी को उपखंड कार्यालय का घेराव कर वहां भूख हड़ताल पर बैठेंगे.

महासभा में आंधी थौलाई, बिरासना, खराना, लालवास, रायपुर, घोरेट, रायपुर, पातलवास, भावनी सहित कई गांव से हजारों की संख्या में महिला व पुरुष मौजूद रहे. गौरतलब है कि प्रबंध निदेशक राजस्थान राज्य औद्योगिक विकास एवं विनियोजन लिमिटेड ने जमवारामगढ़ विधानसभा क्षेत्र के थौलाई गांव में औद्योगिक इकाई की स्थापना के लिए 49.619 हैक्टेयर भूमि को चिन्हित किया है. तथा औद्योगिक इकाई के लिए उक्त जमीन को रीको की स्थल चयन समिति ने औद्योगिक प्रयोजनार्थ उपयुक्त माना है.

स्थल चयन समिति ने उस जमीन को औद्योगिक प्रयोजनार्थ निगम के पक्ष में सेट अपार्ट करने की अनुशंसा की है. भूमि के संबंध में जिला कलेक्टर जयपुर ने 4 सितंबर 2020 को उपखंड अधिकारी जमवारामगढ़ से जमीन को निगम के पक्ष में सेट अपार्ट प्रस्ताव भेजवाने के लिए पत्र लिखा था. लेकिन उपखंड अधिकारी विश्वामित्र मीणा एवं कार्यवाहक तहसीलदार राजेंद्र मीणा द्व्रारा गंभीर लापरवाही बरतते हुए प्रस्ताव को नहीं भेजवाया गया.

इसके बाद जयपुर कलेक्टर की ओर से एडीएम इकबाल खान ने 24/12/2020 को एसडीएम को पुनः स्मरण पत्र भेजा गया. लेकिन आज तक सेट अपार्ट प्रस्ताव नहीं भेजवाया गया है. इससे पूर्व संघर्ष समिति द्वारा संभागीय आयुक्त डॉ समित शर्मा, जिला कलेक्टर अंतर सिंह नेहरा, वह उपखंड अधिकारी को ज्ञापन सौंपकर सेट अपार्ट प्रस्ताव भेजवाने की मांग कर चुके हैं.

(इनपुट-अमित यादव)





Source link

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *