भोपालः शिवराज सरकार में राजस्व एवं परिवहन मंत्री गोविंद सिंह राजपूत (govind singh rajput) ने बड़ा ऐलान किया है, उनका कहना है कि अब वे किसी भी सार्वजनिक कार्यक्रम में भोजन नहीं करेंगे, दरअसल, मंत्री न यह ऐलान इसलिए किया है क्योंकि सीधी बस हादसे के दिन एक सार्वजनिक कार्यक्रम में भोजन करने को लेकर विपक्ष ने उन्हें निशाने पर लिया था.

सार्वजनिक कार्यक्रम में नहीं करूंगा भोजनः मंत्री
दरअसल, मंत्री गोविंद सिंह राजपूत सीधी बस हादसे के दिन मंत्री अरविंद भदौरिया (Arvind Bhadoria) के घर पर आयोजित कार्यक्रम में भोजन करने पहुंचे थे, जिस कांग्रेस ने उन पर निशाना साधा था. गोविंद सिंह राजपूत ने का कहा कि कही न कही बेवजह की बात को इतना खींचा जाता है, जिसकी कोई जरूरत नहीं. इसलिए वे अब तो में एक साल तक कही भी सार्वजनिक कार्यक्रम में भोजन नहीं करेंगे. चाहे वह कैसा भी आयोजन क्यों न हो. क्योंकि इस बात से वह बहुत आहत है.

ये भी पढ़ेंः विंध्य में विधानसभा अध्यक्ष की कुर्सी का अनोखा किस्सा, “व्हाइट टाइगर” को हराने वाला नेता ही लेगा उनकी जगह

गोविंद राजपूत पर कांग्रेस ने साधा था निशाना
मंत्री अवरिंद भदौरिया के घर पर आयोजित कार्यक्रम में खाना खाते वक्त मंत्री गोविंद सिंह राजपूत की एक तस्वीर जमकर वायरल हुई थी. इस तस्वीर को कांग्रेस के नेताओं ने सोशल मीडिया पर शेयर करते हुए गोविंद सिंह राजपूत पर निशाना साधते हुए उनसे इस्तीफे तक की मांग कर दी थी. वही जब इस मुद्दे पर गोविंद सिंह राजपूत से बात की गई तो उनका कहना था कि कांग्रेस ने इस मुद्दे को बेवजह उठाया है.

सीएम से करूंगा प्रदेश में सरकारी बसे चलाने की मांग
वही सीधी बस हादसे को लेकर मंत्री गोविंद सिंह राजपूत ने कहा कि सीधी बस हादसे की जांच हो रही है. गोविंद सिंह राजपूत ने कहा कि वह मुख्यमंत्री से प्रदेश में फिर से सरकारी बसे चलाने की मांग करेंगे.
प्रदेश में सरकारी बसे बंद होने पर गोविंद सिंह राजपूत ने कहा कि कांग्रेस के शासन काल में घाटे के चलते सरकारी परिवहन निगम बंद किया गया था. उस समय सड़के भी खराब थी. गोविंद सिंह राजपूत ने कहा कि वह मुख्यमंत्री से सरकारी बसे चलाने को लेकर अपनी बात रखेंगे. हालांकि फैसला सीएम को लेना है.

ये भी पढ़ेंः सीधी बस हादसे के तुरंत बाद मंत्री गोविंद सिंह राजपूत के भोज पर सवाल, कांग्रेस ने मांगा इस्तीफा

देखो लाइव टीवी





Source link

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *